What is IFSC Code – Hindi

What is IFSC Code – Hindi?

What is IFSC Code : IFSC का फूल फॉर्म Indian Financial System Code होता है। IFSC कोड एक Unique (अद्वितीय) ग्यारह अंकों की संख्या है जो अक्षर और अंकों का एक संयोजन से बना है। इसका उपयोग NEFT, IMPS और RTGS जैसे पेमेंट मोड के माध्यम से ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है।

आमतौर पर, IFSC कोड बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली चेक-बुक या पासबुक पर पाया जा सकता है। प्रत्येक बैंक शाखा का IFSC कोड भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा निश्चित और असाइन किया गया है। जमाकर्ता आसानी से भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट पर अपने बैंक/शाखा के IFSC कोड की जांच कर सकते हैं।

इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करके एनईएफटी, आईएमपीएस और आरटीजीएस द्वारा फंड ट्रांसफर के लिए आईएफएससी कोड की आवश्यकता होती है, इस कोड के बिना फंड ट्रांसफर नहीं किया जा सकता है।


what is ifsc code

Why IFSC Code is important? | IFSC कोड क्यों महत्वपूर्ण है?

Unique Identification – यह एक विशेष बैंक शाखा की पहचान करने में मदद करता है। 

Elimination Errors – यह फंड ट्रांसफर प्रक्रिया की किसी भी विसंगति को खत्म करने में मदद करता है।

Electronic Payments Made Easier – यह आरटीजीएस, आईएमपीएस और एनईएफटी जैसे इलेक्ट्रॉनिक भुगतान टूल में उपयोग किया जाता है।

IFSC कोड कैसे बना है?

IFSC कोड बैंक कोड और ब्रांच कोड के संयोजन से बना होता है।

आईएफएससी कोड में, पहले चार अक्षर होते हैं, जो बैंक के नाम को दर्शाते हैं। इसलिए, एक ही बैंक की प्रत्येक शाखा का IFSC कोड समान चार अक्षरों से शुरू होता है। पांचवे स्थान पर शून्य होता है। शेष छह अंक या संख्याएं बैंक शाखा के कोड को दर्शाते हैं। यह वह हिस्सा है, जो IFSC कोड को विशिष्ट बनाता है।

A B C D 0 1 2 3 4 5 6
Bank Code 0 Branch Code

IFSC Code Example –

उदहारण के लिए – UTIB0000049 यह एक दिल्ली स्थित Axis Bank का IFSC Code है। जिसमे UTIB बैंक का कोड है, और 000049 ब्रांच कोड है।

U T I B 0 0 0 0 0 4 9
Bank Code 0 Branch Code

[UTI (Unit Trust of India Bank) Bank – यह Axis Bank का पुराना नाम है। इसलिए एक्सिस बैंक का बैंक कोड UTIB से शुरू होता है।]

IFSC CODE कैसे काम करता है?

भारत में इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर की सुविधा IFSC कोड द्वारा दी जाती है। यह कोड विशेष रूप से प्रत्येक बैंक शाखा को मान्यता देता है जो भारत में दो मुख्य निपटान और भुगतान प्रणालियों में भाग लेती है, अर्थात्, National Electronic Funds Transfer (NEFT) और Real Time Gross Settlement (RTGS)।

IFSC कोड एक ग्यारह-वर्णो का कोड है जिसे भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा Assign गया है। कोड का पहला भाग चार अक्षरों से बना होता है जो बैंक कोड दर्शाता है। अगला Character शून्य है जो भविष्य के उपयोग के लिए आरक्षित है। अंतिम 6 अक्षर शाखा का पहचान कोड हैं।

फंड ट्रांसफर करते समय IFSC कोड डाला जाता है। साथ ही लाभार्थी का खाता नंबर भी दर्ज करना होगा। जैसा कि IFSC कोड अद्वितीय है, फंड ट्रांसफर करने पर पैसा सुनिश्चित शाखा के खाते में जाता है।

इसे भी पढ़े : Highest commission money transfer service Relipay


IDBI IFSC Code Example

इसे भी पढ़े –

FAQs – Frequently Asked Questions

Q. 1) IFSC कोड क्या है ?

IFSC कोड एक बैंक/शाखा का पहचान कोड है, जो 11 अक्षर और अंकों से बना होता है। यह फण्ड ट्रांसफर के लिए उपयोगी है।

Q. 2) क्या IFS और IFSC कोड समान है?

हाँ , IFSC को ही IFS के नाम से भी जाना जाता है।

Q. 3) IFSC कोड कहां खोजें?

बैंक का IFSC कोड बैंक अकाउंट बुक या चेकबुक पर छपा होता है। यदि पासबुक उपलब्ध नहीं है, तो इस स्थिति में इसे इंटरनेट पर ऑनलाइन खोजा जा सकता है।

Q. 4) बैंक शाखा कोड (ब्रांच कोड) का क्या अर्थ है?

बैंक शाखा कोड एक अद्वितीय कोड है जो शाखा को पहचानने में मदद करता है। यह चेक बुक और पास-बुक पर मुद्रित होता है। किसी भी IFSC कोड के अंतिम 6 वर्ण शाखा कोड होते हैं।

Written by

Nandeshwar Katenga

Nandeshwar Katenga is a dynamic figure in the digital world, combining a foundation in Computer Programming with a passion for Digital Marketing, Web/App development, Personal finance, and blogging. His diverse skill set creates a unique blend of expertise that sets him apart in the tech world.

Leave a Comment

We would like to keep you updated with special notifications. Optionally you can also enter your phone number to receive SMS updates.