Insurance

Insurance Advisor Meaning in Hindi

Insurance Advisor Meaning in Hindi

Insurance Advisor को Hindi में बिमा सलाहकार कहा है। एक Insurance Advisor को वित्तीय सलाहकार के रूप में भी जाना जाता है, एक बीमा सलाहकार सेवानिवृत्ति की योजना बनाने, निवेश करने और जोखिमों से बचाने के लिए ग्राहकों को वित्तीय सलाह प्रदान करता है। बीमा सलाहकार ग्राहकों के साथ वित्तीय जरूरतों के विश्लेषण को पूरा करते हैं, जिसमें संपत्ति और देयताएं, कर की स्थिति, मौजूदा बीमा और जोखिम विश्लेषण शामिल हैं।

बिमा सलाहगार (Insurance Advisor) बनने के फायदे

वास्तव में, बीमा एक कैरियर के तौर पर काफी फायदेमंद है। इस क्षेत्र में अनेक अवसर हैं जिनमें नीचे बताए लाभ भी जुड़े हुए हैं:

Related Articles
  1. आप स्वयं एक मालिक के रूप में कार्य करेंगे और अपनी इच्छा अनुसार काम कर सकते हैं।
  2. नए बिमा और बिमा नवीनीकरण पर आकर्षक कमीशन साथ ही अन्य विशेष इन्सेन्टिव्स का लाभ उठा सकते है।
  3. बीमा एक शानदार पेशा है। क्योंकि, इसमें आप लोगों को उनके धन संबंधी चुनौतियों से सामना करने एवं भविष्य संबंधी योजना बनाने में मदद करते हैं।
  4. बीमा व्यवसाय ही केवल उन्हीं व्यवसायों में से एक है, जिसमें आपको हर साल नए प्रीमियम इकट्ठा करने पर अपनी हर पुरानी पॉलिसी के लिए हर साल कमीशन मिलता है। इसलिए, जब तक आपके ग्राहक प्रीमियम का भुगतान करते रहते हैं, तब तक आप एक अच्छी कमाई करते रहते हैं।

इन बेनिफिट्स के कारण, बीमा एजेंसी को एक बहुत अच्छे करियर विकल्प के रूप में पहचाना जाता है और कई लोग बीमा अ‍ॅडवायजर के रूप में अपना भविष्य बनाते हैं।

बिमा सलाहकार कैसे बन सकते है?

IRDAI (बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण) द्वारा निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुसार, सलाहकार बनने की एक प्रक्रिया है। एक बीमा सलाहकार बनने के लिए आपको एक विशेष बीमा कंपनी के साथ खुद को पंजीकृत करना होगा, एक निर्दिष्ट बीमा प्रशिक्षण से गुजरना होगा, एक निर्धारित स्थान पर परीक्षा के लिए बैठना होगा और परीक्षा पास करनी होगी। एक बार जब आप इस प्रक्रिया का पालन करते हैं और परीक्षा पास कर देते हैं, तो आप एक बीमा सलाहकार बन सकते हैं।

यह भी पढ़े : Types of insurance policies in Hindi

आइए विस्तार में प्रक्रिया को समझते हैं –

  • यदि आप योग्यता मानदंडों को पूरा करते हैं, तो आपको Agency के लिए नामांकन करना होगा
  • जिस कंपनी के बीमा सलाहकार बनना चाहते है वहा आपको अपने केवाईसी दस्तावेज जमा करने होंगे और बीमा कंपनी के साथ पंजीकरण करना होगा।
  • आपके द्वारा सफलतापूर्वक पंजीकृत होने के बाद, आपको एक निर्दिष्ट अवधि के प्रशिक्षण कार्यक्रम से गुजरना होगा। अवधि उस एजेंसी के प्रकार पर निर्भर करती है जिसे आप चाहते हैं। यह प्रशिक्षण एक क्लास-रूम प्रशिक्षण है जिसे ऑफ़लाइन लिया जाना चाहि
  • सफलतापूर्वक पंजीकृत होने के बाद, आपको एक निर्दिष्ट अवधि के प्रशिक्षण कार्यक्रम से गुजरना होगा। अवधि उस एजेंसी के प्रकार पर निर्भर करती है जिस कम्पनी के साथ काम करने में रूचि रखते हैं।
  • प्रशिक्षण के बाद एक परीक्षा आयोजित की जाती है। यह परीक्षा भारतीय बीमा और विकास प्राधिकरण (IRDAI) द्वारा निर्धारित की जाती है। आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों में से किसी एक माध्यम से परीक्षा दे सकते हैं।
  • यदि आप परीक्षा में सफल होते है, तो आपको बिमा सलाहकार का लाइसेंस दिया जायेगा और आप एक बीमा सलाहकार के रूप में कार्य कर सकेंगे।

देखने के यह प्रक्रिया जटिल लग रही होंगी, लेकिन बहुत ही आसान है।  आप MintPro के साथ आसानी से जुड़कर Insurance Advisor का कार्य कर सकते है और बिमा उत्पाद बेच सकते है। अधिक जानकारी के लिए निचे दिए लिंक पर क्लिक करें।

यह भी पढ़े : Why do we need insurance

Duties of Insurance Advisor

बीमा सलाहकार एक मध्यस्थ व्यक्ति है जो बीमा कंपनी और ग्राहक को एक साथ लाता है और बिमा उत्पाद बिक्री करने में मदद करता है। इसके अलावा, सलाहकार को सही उत्पाद पर ग्राहकों को सलाह देने, प्रपत्रों को भरने में सहायता करने, दावों के समय ग्राहकों की मदद करने आदि का काम सौंपा जाता है। इस प्रकार, एक सलाहकार कई भूमिका निभाता है।

nandeshkatenga

लेखक एक Computer Engineer हैं, और 2016 से AePS के क्षेत्र में रिटेलर, डिस्ट्रीब्यूटर, सुपर डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में काम कर रहे है। टेक्निकल, मार्केटिंग, प्रोग्रामिंग आदि सम्बंधित ब्लॉग लिखना भी पसंद करते है। आप उनसे [email protected] और +919834754391 (व्हाट्सप्प) पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Our customer support team is here to answer your questions. Ask us anything!
WeCreativez WhatsApp Support
Admin
Nandeshwar
Available