Insurance

Comprehensive Insurance Means

Comprehensive Insurance Means

यदि आप अपने कार के लिए बीमा लेना चाहते है, तो हमारी यही सलाह होगी की आप कांप्रि​हेंसिव इंश्योरेंस ही ले। Vehicle Insurance केटेगरी आपको Comprehensive Insurance ही लेना चाहिए, चाहे वह Car Insurance हो या फिर Bike Insurance या बडे कॉमर्शियल वाहन हो। हर तरह के वाहनों के लिए Comprehensive Insurance को बेहतर माना जाता है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि Comprehensive Insurance क्या होता है?  कैसे आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है? और कैसे ले सकते हैं? साथ ही आप Comprehensive Insurance के नियमों एवं अन्य उपयोगी तथ्यों के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Comprehensive Insurance Means in Hindi

Comprehensive Insurance का अर्थ या मतलब होता है- विस्तृत बीमा या व्यापक बीमा। दरअसल, comprehensive insurance लेने पर आपको थर्ड पार्टी इंश्योरेंस और ओन डैमेज कवर, दोनों तरह की बीमा सुरक्षाएं साथ-साथ मिलती हैं, इसलिए इसे comprehensive insurance कहते हैं। कांप्रिहेंसिव इंश्योरेंस लेने पर ही Add ons Covers लेने की सुविधा भी मिलती है। ये थर्ड पार्टी इंश्योरेंस, ओन डैमेज कवर, और Add ons वगैरह क्या होते हैं, इन्हें जान लेने पर ही आपको कांप्रिहेंसिव इंश्योरेंस ठीक से समझ में आएगा। तो आइए, इनका परिचय जानते हैं—

Related Articles

Third Party Insurance क्या होता है?

आपके वाहन से किसी अन्य व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान पहुंचने पर उसका हर्जाना भरने के लिए Third party Insurance होता है। प्रत्येक वाहनधारक को, चाहे दोपहिया हो या चारपहिया या इससे बडा वाहन,  थर्ड पार्टी इंश्योरेंस लेना कानूनन अनिवार्य है। इससे आपको निम्नलिखित प्रकार की बीमा सुरक्षा मिलती हैं-

  • आपके वाहन से किसी व्यक्ति को शारीरिक क्षति होने पर, उसके इलाज का खर्च आपको पॉलिसी बेचने वाली बीमा कंपनी चुकाएगी।
  • आपके वाहन से किसी व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसके परिवार को मुआवजे का भुगतान भी आपकी बीमा कंपनी निपटेगी।
  • आपके वाहन से किसी अन्य वाहन को नुकसान पहुंचने पर या संपत्ति को हुए नुकसान के लिए हर्जाना भी आपकी बीमा कंपनी करेगी।
  • किसी अन्य व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान से संबंधित दावे पर कानूनी प्रक्रिया का खर्च भी आपकी बीमा कंपनी निपटाएगी।

ध्यान रखें:  Third Party Insurance के साथ आपके खुद के वाहन को हुए नुकसान का कोई मुआवजा नहीं मिलता। इसके लिए आपको Own damage Cover लेना होता है, जोकि कांप्रिहेंसिव इंश्योरेंस के साथ मिलता है।

Own Damage Cover

Own damage Cover, किसी हादसे में आपकी गाडी को नुकसान पहुंचने पर, मुआवजा देता है। निम्नलिखित प्रकार के नुकसान इसके दायरे में आते हैं—

  • दुर्घटना (accident), आग (fire) , flood (बाढ), भूस्खलन (landslides) व इसी तरह की अन्य किसी घटना में आपके वाहन को हुए नुकसान का मुआवजा बीमा कंपनी देती है।
  • आपकी गाडी चोरी हो जाने पर या पूरी तरह नष्ट हो जाने पर गाडी की बाजार कीमत के हिसाब से मुआवजा बीमा कंपनी से मिलता है।
  • कांप्रिहेंसिव बीमा, लेने पर थर्ड पार्टी इंश्योरेंस और Own damage Cover, दोनों उसका हिस्सा होते हैं। लेकिन, पहले सिर्फ थर्ड पार्टी इंश्योरेंस ​लिया था तो बाद में इसे अलग से भी Standalone Own Damage Cover के रूप में ले सकते हैं।

नोट: Own damage Cover लेना कानूनी रूप से अनिवार्य नहीं है, लेकिन इसके फायदों को देखते हुए, इसे लेना ज्यादा अच्छा रहता है।

अनिवार्य व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा

वाहन बीमा के रूप में चाहे आप अकेले ​Third Party Insurance ले रहे हों, या फिर Comprehensive Insurance, हर तरह के बीमा के साथ आपको 15 लाख रुपए का अनिवार्य व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा (Mandatory Personal Accident Cover) लेना अनिवार्य है।  यह Owner Driver के नाम होता है, जिसके नाम पर गाडी रजिस्टर्ड होती है और उसका नाम बीमा पॉलिसी में भी दर्ज होता है।

15 लाख के अनिवार्य व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, के अलावा भी ज्यादा रकम के लिए अलग से Add On cover के रूप में व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा लिया जा सकता है। Owner Driver के अलावा, लाइसेंसशुदा पैसेंजर्स और सवारियों के लिए भी अलग से व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, ले सकते हैं।

अलग से एड ऑन कवर | Add-ons or riders

अगर, आपने Comprehensive car insurance policy का विकल्प चुना है तो कुछ अतिरिक्त व सहायक बीमा सुरक्षाएं भी इसमें जुडवा सकते हैं। इन्हें एडऑन कवर या राइडर कहते हैं। कुछ ज्यादा प्रचलित Add-ons के नाम इस प्रकार हैं—

  • व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा : इसकी जानकारी हम, अनिवार्य दुर्घटना बीमा के साथ दे चुके हैं।
  • Road accident Cover : इसका जिक्र हम अनिवार्य दुर्घटना बीमा के पैराग्राफ में कर चुके हैं।
  • Zero Depreciation Cover: बीमा के ​लिए क्लेम के समय गाडी की कीमत न घटाए जाने के लिए
  • Return to Invoice Cover: कार चोरी हो जाने, या पूरी तरह नष्ट हो जाने पर पूरी कीमत पाने के लिए
  • Engine Protection Cover: इंजन को नुकसान पहुंचने पर उसकी रिपेयरिंग या बदलने के लिए
  • Roadside Assistance Cover: हादसा होने पर, बीमा कंपनी की ओर से मौके पर ही मदद पहुंचाने के लिए.
  • NCB Protector Cover: दो क्लेम करने के बावजूद No Claim Bonus का फायदा जारी रखने के लिए

नोट: कोई भी एड आन, आप सिर्फ कंप्रिहेंसिव इंश्योरेंस लेने पर ही पा सकते हैं। अगर केवल थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराया है तो अनिवार्य दुर्घटना बीमा को छोडकर, अन्य कोई भी एड आन नहीं ले सकते।

Comprehensive Insurances कहाँ से खरीद सकते हैं?

अपनी कार, बाइक या अन्य किसी वाहन के लिए, के लिए बीमा आपको चार तरह से मिल सकता है।

वाहन कंपनी के शोरूम या सेल्स सेंटरों पर

अगर आप नई गाडी ले रहे हैं तो सामान्यत: आपको वहीं शोरूम पर ही बीमा करवाने की सुविधा मिल जाती है। वाहन कंपनियों का किसी न किसी जनरल इंश्योरेंस कंपनी का उस वाहन कंपनी से गठबंधन होता है। हालांकि, आप उसी कंपनी का बीमा लेने के लिए बाध्य नहीं है। आप किसी दूसरी कंपनी से भी अपनी गाडी का बीमा करवा सकते हैं।

बीमा कंपनी के कार्यालय या प्रतिनिधि केंद्र से

वाहन बीमा, जनरल इंश्योरेंस कंपनियां करती हैं। शहरों और बडे कस्बों में प्राय: प्रमुख बीमा कंपनियों के कार्यालय मिल जाते हैं। थोडा छोटी जगहों पर भी इनके एजेंट मिल जाते हैं। आप उनसे संपर्क कर अपनी गाडी का बीमा करवा सकते हैं।  किसी खास कंपनी से बीमा लेने के पहले अन्य प्रमुख कंपनियों के बीमा प्लान के बारे में भी पता कर लेना चाहिए।

बीमा कंपनी की वेबसाइट से ऑनलाइन खरीद

वाहन बीमा करने वाली सभी प्रमुख जनरल इंश्योरेंस कंपनियों की वेबसाइट है। उन पर जाकर अपनी सुविधानुसार आप बीमा प्लान चुन सकते हैं। नेटबैंकिंग, कार्ड, यूपीआई वगैरह से भुगतान करके बीमा पॉलिसी खरीद भी सकते हैं।

बीमा  एग्रीगेटरों की वेबसाइट के माध्यम से

आजकल कई सारे इंश्योरेंस एग्रीगेटर कंपनियां आॅनलाइन मौजूद हैं। जैसे कि पॉलिसी बाजार, एक्को इंश्योरेंस, पॉलिसीक्स, बैंक बाजार इंश्योरेंस वगैरह। इनकी वेबसाइट पर आपको विभिन्न बीमा कंपनियों के प्रोडक्ट के बारे में जानकारी मिल जाती है, उनकी तुलना करने और प्रीमियम जानने की सुविधा भी रहती है। साथ ही उनको खरीदने का लिंक भी रहता है।

Comprehensive Insurance की कीमत कितनी होती है?

कांप्रिहेंसिव पॉलिसी की कीमत, आपकी गाडी की क्षमता, उसकी कीमत और बीमा कंपनी के प्लान के हिसाब से अलग—अलग हो सकती है। यह निम्नलिखित तथ्यों पर निर्भर करती है—

  • Third party Insurance की Price : वाहन की क्षमता और उसके प्रयोग के हिसाब से यह अलग-अलग होती है। इसकी कीमत भारतीय बीमा​ नियामक संस्थान, IRDA की ओर से निर्धारित की जाती है। आप IRDA  की वेबसाइट या जनरल इंश्योरेंस कंपनियों की वेबसाइट पर भी थर्ड पार्टी इंश्योरेंस की कीमत सूची देख सकते हैं।

 

  • ओन डैमेज कवर की कीमत : यह आपकी गाडी की इंश्योर्ड डिक्लेयर वैल्यू .तात्कालिक बाजार कीमत. पर निर्भर करता है। पुरानी गाडी है तो फिर नो क्लेम बोनस का भी फायदा मिल सकता है। आपके वाहन की मौजूदा कीमत, बीमा कंपनी के प्लान और छूट के आफर के हिसाब से यह अलग-अलग हो सकती है।

 

  • अनिवार्य दुर्घटना बीमा की कीमत : इसका रेट भी इरडा की ओर से निर्धारित किया जाता है। फिलहाल 15 लाख के अनिवार्य दुर्घटना बीमा के लिए सालाना 750 रुपए का प्रीमियम चुकाना पडता है।
  • जोड़े गए एड आन कवर की कीमत : आपने अपनी मुख्य बीमा पॉलिसी के साथ, जो जो एड ऑन कवर लिए होंगे, उन सबके लिए अलग से कीमत जुड जाएगी।

nandeshkatenga

लेखक एक Computer Engineer हैं, और 2016 से AePS के क्षेत्र में रिटेलर, डिस्ट्रीब्यूटर, सुपर डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में काम कर रहे है। टेक्निकल, मार्केटिंग, प्रोग्रामिंग आदि सम्बंधित ब्लॉग लिखना भी पसंद करते है। आप उनसे [email protected] और +919834754391 (व्हाट्सप्प) पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Our customer support team is here to answer your questions. Ask us anything!
WeCreativez WhatsApp Support
Admin
Nandeshwar
Available