क्या मृत व्यक्ति की ऊँगली के स्पर्श से मोबाइल फिंगर सेंसर कार्य करेगा ?

क्या मृत व्यक्ति की ऊँगली के स्पर्श से मोबाइल फिंगर सेंसर कार्य करेगा ?

आज की  इस आधुनिक युग में, हमारा सभी डेटा को हमारे कंप्यूटर पर एन्कोडेड रूप में सुरक्षित रखा जाता है और ऐसे डेटा की सुरक्षा हमेशा एक प्रमुख चिंता का विषय रही है। सुरक्षा के क्षेत्र में विज्ञान का बड़ा योगदान रहा है। बीतते समय के साथ, दुनिया भर की सुरक्षा प्रणालियाँ अब नए प्रमाणीकरण तरीकों जैसे उंगलियों के निशान के साथ आ गई हैं।

बायोमेट्रिक्स आधारित प्रणालियों ने कुशलता से इस समस्या का समाधान प्रदान किया है। इस तरह की प्रणाली का उपयोग करने वाली सुविधाओं में से एक हमारा फिंगरप्रिंट है। हमारी उंगलियों के निशान बहुत ही अनोखे होते हैं। एक व्यक्ति के उंगलियों के निशान किसी और के उंगलियों के निशान से मेल नहीं खाते, यहां तक ​​कि समान जुड़वाँ इंसानों के अंगुलियों के निशान को एकसमान नहीं होते।  फ़िंगरप्रिंट आम तौर पर उच्च स्तर की सुरक्षा प्रदान करते हैं। लेकिन यह भी आपको कुछ दिलचस्प सवालों की ओर ले जाता है। क्या कोई आपके डिवाइस को अनलॉक करने के लिए मृत्यु के बाद आपके अंगूठे का उपयोग कर सकता है? या क्या किसी व्यक्ति की मृत्यु के बाद उंगलियों के निशान बदल जाते हैं? तो आइये जानते है इन सवालों के जवाब

क्या फिंगरप्रिंट बदलना संभव है?

क्या फिंगरप्रिंट पैटर्न एक समान रहते हैं या क्या उन्हें बदलना संभव है? खैर, इंसानों की उंगलियों के निशान गर्भ में बनते हैं और जैसे-जैसे व्यक्ति बढ़ता है, वे बढ़ते जाते हैं। हालाँकि उनके आकार में परिवर्तन होता है लेकिन आजीवन या दूसरे शब्दों में पैटर्न एक ही रहता है, लेकिन जब कोई व्यक्ति दूसरे हाथ ट्रांसप्लांट नहीं कर लेता तब तक उसके प्रिंट को पूरी तरह से बदलना संभव नहीं है। हालांकि, कुछ चीजें हैं जो कुछ छोटी अवधि के लिए प्रिंट को बदल सकती हैं। कुछ बीमारियों से एपिडर्मिस और डर्मिस परत का नुकसान होता है जिसके परिणामस्वरूप ऐसे निशानों की पहचान करने में कठिनाई होती है।

इसके अलावा, जो Construction Industries में काम करते हैं, नियमित बर्तनो को हाथ से धोते हैं या रसायनों के साथ काम करते हैं,(उदाहरण के लिए: कैल्शियम ऑक्साइड) वो लोग उंगलियों के निशानों के कुछ डिटेल्स खो सकते हैं। साथ ही, त्वचा की एपिडर्मिस लेयर की गहराई तक कटने या जलने से उंगलियों के निशान को स्थायी रूप से बदल देते हैं।

क्या व्यक्ति के मरने के बाद उंगलियों के निशान बदल जाते हैं?

किसी व्यक्ति की उंगलियों के निशान उसकी मृत्यु के बाद भी बने रहते हैं। इसके अलावा, यह निर्भर करता है कि मृत्यु के कितने समय बाद हम इसकी जांच कर रहे हैं। मृत्यु के बाद शरीर (त्वचा और उंगलियों के निशान) का विघटन (Decomposition) होने लगता है। यदि शरीर को सावधानी से संरक्षित किया जाए, तो उंगलियों के निशानो को फिर से प्राप्त किया जा सकता है। लेकिन यह उन स्थितियों और परिस्थितियों पर भी निर्भर करता है जिनके तहत व्यक्ति की मृत्यु हुई हैं। यदि व्यक्ति दुर्घटना में मारा गया है, और घर्षण के कारण व्यक्ति का हाथ बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है, तो उंगलियों के निशानो को फिर से प्राप्त करने की संभावनाएं  बहुत कम हो सकती हैं।

तो क्या इसका मतलब यह है कि आपके फिंगरप्रिंट का इस्तेमाल मौत के बाद भी आपके फोन को अनलॉक करने के लिए किया जा सकता है?

वास्तव में नहीं! हमारे फोन और अन्य डिवाइस हमारे हाथ के इलेक्ट्रिक आवेगों (electric impulses) का उपयोग उन्हें अनलॉक करने के लिए करते हैं। इसलिए व्यक्ति मृत्यु के तुरंत बाद, फोन को अनलॉक नहीं कर सकते है। पहचान प्रमाणीकरण में भी फिंगरप्रिंट के इस उपयोग के कुछ नुकसान हैं। ऐसे कई कथित मामले सामने आए हैं जहां किसी व्यक्ति की मृत्यु के बाद, कुछ खाली कागजात और संपत्ति के कुछ समझौतों पर उसकी उंगलियों के निशान लिए गए।

अगर किसी और कारण से किसी की मृत्यु हो गई और तुरंत उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया, तो उंगलियों के निशान भी नहीं रहेंगे। यदि मृत शव को किसी ताबूत के मदद से दफन किया गया है, तो उम्मीद कर सकते हैं कि रिज विशेषता विवरण 3 महीने के अंतराल के बाद हाथों और पैरों पर मौजूद हो सकते है। यह याद रखना चाहिए कि अगर बाहरी त्वचा खराब हो सकती है, लेकिन रिज संरचना अभी भी निचले डर्मिस परत पर मौजूद हो सकती जिसका उपयोग किया जा सकता है।

लंबे समय से उंगलियों के निशान ने हमें एक विशिष्ट पहचान प्रदान की है। आपने सुना होगा कि फोरेंसिक उंगलियों के माध्यम से मृत व्यक्ति की पहचान कैसे निर्धारित करता है। यह एक शव परीक्षा में पहला कदम होता है। एफबीआई और अन्य अपराध जांच एजेंसियां ​​कुछ गंभीर अपराध जांच में उनका उपयोग करती हैं। इसकी विशिष्ट पहचान एक कारण है कि यह अभी भी था और अन्य पहचान मोड में पसंद किया जा रहा है। बायोमेट्रिक्स में उंगलियों के निशान अभी भी अनुसंधान का एक बड़ा क्षेत्र हैं और निकट भविष्य में इस क्षेत्र में बहुत उन्नति होने की उम्मीद है।

Relipay Registration

Retailer | Distributor | Partner ID Available

Highest AEPS Commission | Lowest DMT Charges | Quick Approval | Best Support

WhatsApp Only : +919834754391 — 8AM – 11PM (Always Available)